Blog Classic

Blog

होली मिलन समारोह में बहा काव्य का रस

नोएडा के सेक्टर-62 स्थित प्रेरणा जन संचार एवं शोध संस्थान में विश्व संवाद केंद्र नोएडा के तत्वावधान में शनिवार को पत्रकार होली मिलन समारोह एवं काव्य गोष्टी का आयोजन किया गया। होली मिलन समारोह में पधारे कवियों ने अपनी रचनाओं के माध्यम से होली की महत्ता पर प्रकाश डाला। पदम जी ने सभी अतिथियों को गुलाल का टीका लगाया और पुष्प वर्षा कर स्वागत किया। उन्होंने होली की महत्ता पर प्रकाश डालते हुए कहा कि होली एकता और भाईचारे का प्रतीक है। हम सभी को त्योहारों को हर्षोउल्लास के साथ मानना चाहिए। होली का त्योहार हमें जीवन में मनमुटाव खत्म करने की सीख देता है। होली मन के उल्लास और आनंद का स्वरूप है। हमें अपने सारे गिले-सिकवे दूर कर एक दूसरे से मिलना चाहिए। दीपक शंखधर ने अपनी आज राष्ट्र के भगवाधारी हम, एक ध्वनि एक रस में बंध जाएं हम के माध्यम से सभी को राष्ट्रीयता की भावना से ओत-प्रोत कर दिया। राहुल सिंह ने मां की महिमा पर प्रकाश डालते हुए कहा कि मां त्याग, ममत्व और समर्पण की साक्षात मूर्ति है। उन्होंने अपनी रचना मां की बातों में बसे हैं गीता और कुरान के माध्यम से मां समग्र रूप काव्य में वर्णन किया। नन्दिनी श्रीवास्तव ने अपनी रचना पत्थरांे में अगर पूज सको खुदा, सांस लेते तुम इंसान हो को सुनाकर इंसानियत सही रूप समझाया। उन्होंने दर्शक दीर्घा की ओर से निवेदन पर काव्य रचना बात की भी नहीं, बात होने लगी भी सुनाई। बी.एस भारद्वाज ने समाज में व्याप्त भ्रष्टाचार पर जब अपनी रचना मैं भी सुनता हूं कभी- कभी अंधी बहरी सरकारों को को सुनाया तों सभागार तालियों से गंूज उठा। भारद्वाज ने रचना के माध्यम से सामाज में पनम रही कुरीतियों से रूवरू कराया। वहीं पी.के गोस्वामी ने अपनी होली पर रचना होली का त्योहार आया, होली का त्योहार आया सुनाई। पंकज शर्मा ने ओ बाबा ओ को सुनाकर सभी को मंत्रमुग्ध कर दिया आयोजन को सफल बनाने में डा. अनिल त्यागी, विभाग प्रचार प्रमुख, पदम सिंह, नोएडा महानगर प्रचार प्रमुख, मनीष गुप्ता सह महानगर प्रचार प्रमुख, तुहिन जी, नीरज जी, कृष्णकांत जी, जय प्रकाश आदि ने सहयोग किया। कार्यक्रम का संचालन डा. पवन विजय ने किया।